Spread the love
        
 
        

लखनऊ । योगी सरकार 2.0 की आज पहली कैबिनेट बैठक में बड़ा फैसला किया गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई बैठक में गरीबों को मिलने वाला फ्री राशन की समय सीमा 3 महीने और बढ़ा दी गई है. यह योजना मार्च 2022 तक की थी लेकिन सरकार बनने के बाद योगी आदित्यनाथ ने इसे 3 महीने और बढ़ा दिया यानी अप्रैल मई और जून 2022 तक गरीबों को पूर्व की भात मुफ्त अनाज मिलता रहेगा.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा की देश में कोरोना महामारी के दौरान 15 महीने तक मुफ्त राशन लोगों को बांटा गया उत्तर प्रदेश सरकार ने भी अंत्योदय 15 करोड़ परिवारों के लिए योजना शुरूकी गई थी. पहले यह 3 महीने के लिए लागू की गई थी मई, जून, जुलाई 2021 में लेकिन उसके बाद कोरोना काल में भी दिसंबर से मार्च 2022 तक गरीबों को मुफ्त राशन देने की योजना को यूपी सरकार ने आगे बढ़ाया. मार्च में जब यह योजना खत्म हो रही थी तो आज कैबिनेट की पहली बैठक में योगी आदित्यनाथ ने 3 महीने के लिए इसकी और बढ़ा दिया है.

आपको बता दें उत्तर प्रदेश में मुफ्त राशन योजना भाजपा की सुपरहिट योजनाओं में से एक है, जिसके दम पर यूपी में उसकी दोबारा सत्ता में वापसी हुई है, सरकार इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज लोकभवन में हुई पहली कैबिनेट की बैठक में इसे 3 महीने के लिए और बढ़ा दिया गया. क्योंकि चुनाव के दौरान समाजवादी पार्टी और दूसरे विपक्षी दलों इसे मुद्दा बनाते हुए लगातार बीजेपी पर हमला बोलते हुए कह रहे थे कि चुनाव के बाद मुफ्त राशन योजना खत्म हो जाएगी. सरकार अब इस को ध्यान में रखते हुए गरीबों को मिलने वाला मुफ्त अनाज 3 महीने यानी अप्रैल 9 जून 2022 तक आगे बढ़ा दिया है इससे गरीबों को मिलने वाली राहत जारी रहेगी.

आज सुबह कैबिनेट बैठक के बाद अब कहां जा रहा है कि नए मंत्रियों के विभागों का बंटवारा भी योगी आदित्यनाथ करेंगे. आज प्रोटेम स्पीकर के शपथ ग्रहण के बाद विधायकों को शपथ दिलाई जाएगी उससे पहले विधानसभा अध्यक्ष के नाम फाइनल किया जाएगा विधानसभा अध्यक्ष की रेस में अभी जो सबसे पहला नाम चल रहा है वह पूर्व मंत्री कानपुर से विधायक सतीश महाना है सतीश महाना को इस बार कैबिनेट में जगह नहीं मिली है और कहा जा रहा है कि उन्हें विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी दी जा सकती है.

Sending
User Review
5 (2 votes)

Leave a Reply

error: Content is protected !!