खेल

इंग्लैंड बिना विकेट गंवाए 30 रन के पार; 78 रन पर ऑलआउट हुई टीम इंडिया, 28 मिनट के अंदर 5 विकेट गंवाए

Spread the love

भारत और इंग्लैंड के बीच 5 टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा मुकाबला हेडिंग्ले के लीड्स में खेला जा रहा है। टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए टीम इंडिया पहली पारी में 78 रन पर ऑलआउट हो गई। जवाब में इंग्लैंड ने बिना विकेट गंवाए 30+ रन बना लिए हैं। फिलहाल ओपनर्स रोरी बर्न्स और हसीब हमीद क्रीज पर हैं।

78 रन भारत का इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में तीसरा और ओवरऑल 9वां सबसे छोटा स्कोर है। भारत का सबसे छोटा स्कोर 36 रन का है, जो उन्होंने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाया था। वहीं भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में 1974 में 42 रन और 1952 में मैनचेस्टर में 58 रन बनाकर ऑलआउट हो गई थी। यह टेस्ट में 26वीं बार है जब टीम इंडिया 100 से कम के स्कोर पर सिमट गई।

इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों ने लीड्स टेस्ट में शानदार प्रदर्शन किया। तेज गेंदबाजों ने सभी 10 विकेट लिए।

इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों ने लीड्स टेस्ट में शानदार प्रदर्शन किया। तेज गेंदबाजों ने सभी 10 विकेट लिए।

28 मिनट के अंदर भारत ने 5 विकेट गंवाए
भारत ने अपने आखिरी 5 विकेट 11 रन और 28 मिनट के अंदर गंवा दिए। रोहित शर्मा 67 रन के कुल स्कोर पर भारतीय समयानुसार शाम 6:59 बजे आउट हुए थे। इसके 28 मिनट में भारतीय टीम ने 4 और विकेट गंवा दिए। शाम 7:27 बजे तक मोहम्मद शमी, रवींद्र जडेजा, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज भी पवेलियन लौट चुके थे। जेम्स एंडरसन और क्रेग ओवरटन ने 3-3 और ओली रॉबिन्सन और सैम करन ने 2-2 विकेट झटके।

रॉबिन्सन ने भारत को 2 महत्वपूर्ण झटके दिए। उन्होंने लंच से पहले रहाणे और बाद में पंत को आउट किया।

रॉबिन्सन ने भारत को 2 महत्वपूर्ण झटके दिए। उन्होंने लंच से पहले रहाणे और बाद में पंत को आउट किया।

भारत ने 11 रन बनाने में 5 विकेट गंवा दिए

  • जेम्स एंडरसन ने भारत को शुरुआती 3 झटके दिए। उन्होंने लोकेश राहुल (0), चेतेश्वर पुजारा (1 रन) और विराट कोहली (7 रन) को पवेलियन भेजा।
  • एंडरसन ने तीनों को विकेटकीपर जोस बटलर के हाथों कैच कराया। अजिंक्य रहाणे (18 रन) लंच से पहले आखिरी ओवर में आउट हो गए।
  • लंच के बाद रॉबिन्सन ने ऋषभ पंत को आउट किया। उन्होंने रहाणे और पंत दोनों को विकेटकीपर बटलर के हाथों कैच कराया।
  • क्रेग ओवरटन ने 37वें ओवर में लगातार 2 बॉल पर 2 विकेट लिए। उन्होंने पहले रोहित शर्मा को रॉबिन्सन के हाथों कैच कराया।
  • रोहित 105 बॉल पर 19 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद ओवरटन ने अगले बॉल पर मोहम्मद शमी (0) को रोरी बर्न्स के हाथों कैच कराया।
  • 38वें ओवर में करन बॉलिंग के लिए आए। उन्होंने इस ओवर की दूसरी और तीसरी बॉल पर रवींद्र जडेजा और जसप्रीत बुमराह को पवेलियन भेजा।
  • यानी 67 रन के कुल स्कोर पर भारत के 4 विकेट गिरे। जडेजा 4 रन, बुमराह शून्य और सिराज 3 रन पर आउट हुए। भारत के 3 बल्लेबाज 0 पर आउट हुए।
रोहित को आउट करने के बाद जश्न मनाते क्रेग ओवरटन।

रोहित को आउट करने के बाद जश्न मनाते क्रेग ओवरटन।

रूट को चोट लगी
इंग्लिश कप्तान जो रूट फील्डिंग के दौरान कोहनी में चोट लगा बैठे। इसके बाद वे मैदान से बाहर चले गए। उनकी अनुपस्थिति में लंच तक जोस बटलर ने कमान संभाली। रूट की चोट गंभीर नहीं थी और वे लंच के बाद मैदान पर वापस लौट आए।

चोट लगने के बाद पवेलियन वापस लौटते जो रूट।

चोट लगने के बाद पवेलियन वापस लौटते जो रूट।

एंडरसन के आगे कोहली फेल
एंडरसन ने कोहली को 7वीं बार आउट किया। उन्होंने टेस्ट में कोहली को सबसे ज्यादा बार आउट करने के ऑस्ट्रेलिया के नाथन लायन के रिकॉर्ड की बराबरी की। लायन ने 33 पारियों में और एंडरसन ने 41 पारियों में यह मुकाम हासिल किया। इस सीरीज में दूसरी बार एंडरसन ने कोहली को पवेलियन भेजा।

आउट होने के बाद पवेलियन लौटते चेतेश्वर पुजारा।

आउट होने के बाद पवेलियन लौटते चेतेश्वर पुजारा।

लोकेश राहुल के रूप में टीम इंडिया को पहला झटका लगा।

लोकेश राहुल के रूप में टीम इंडिया को पहला झटका लगा।

विराट ने 5 टेस्ट के बाद टॉस जीता
विराट ने 5 टेस्ट के बाद टॉस जीता है। पिछला टॉस उन्होंने फरवरी 2021 में चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ ही जीता था। भारतीय कप्तान ने टीम में कोई बदलाव नहीं किया है, जबकि इंग्लिश टीम के कप्तान जो रूट ने 2 बदलाव किए हैं। डोमिनिक सिबली और मार्क वुड की जगह डेविड मलान और क्रेग ओवरटन को टीम में जगह मिली है।

विराट ने नहीं बदली टीम
यह विराट की कप्तानी में 64 टेस्ट में सिर्फ चौथी बार है जब भारतीय टीम में लगातार 2 टेस्ट में कोई बदलाव नहीं किया गया है। इससे पहले 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ ट्रेंट ब्रिज और साउथैम्टन टेस्ट, 2019 में वेस्टइंडीज के खिलाफ नॉर्थ साउंड और किंग्सटन और 2019/20 में बांग्लादेश के खिलाफ इंदौर और कोलकाता टेस्ट में विराट ने प्लेइंग-11 में कोई बदलाव नहीं किया था।​​​​​​ विराट ने कभी 2 टेस्ट से ज्यादा उसी टीम के साथ नहीं उतरे हैं।

टॉस के दौरान इंग्लैंड के कप्तान जो रूट और भारतीय कप्तान विराट कोहली।

टॉस के दौरान इंग्लैंड के कप्तान जो रूट और भारतीय कप्तान विराट कोहली।

दोनों टीमें

इंग्लैंड: जो रूट (कप्तान), हसीब हमीद, डेविड मलान, रोरी बर्न्स, मोइन अली, जॉनी बेयरस्टो, जोस बटलर (विकेटकीपर), सैम करन, क्रेग ओवरटन, जेम्स एंडरसन और ओली रॉबिन्सन।

भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, इशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह।

35 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी का मौका
1-0 की बढ़त हासिल कर चुकी टीम इंडिया अगर यह मैच जीत लेती है तो वह 35 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी कर लेगी। यह रिकॉर्ड है इंग्लैंड में एक टेस्ट सीरीज में सबसे सबसे ज्यादा मैच जीतने का। 1986 में कपिल देव की अगुआई वाली भारतीय टीम ने इंग्लैंड को 2-0 से हराया था।

यह इंग्लैंड में भारत-इंग्लैंड के बीच खेली गई इकलौती ऐसी टेस्ट सीरीज है जिसमें भारतीय टीम ने 2 से ज्यादा मैच जीते। हेडिंग्ले में भारत ने 1986 और 2002 में जीत हासिल की थी। 2002 के बाद यहां भारत और इंग्लैंड की टीम पहली बार आमने-सामने है।