नारनौल

डीसी ने ली जिला टास्क फोर्स कमेटी की बैठक; अवैध कालोनियों के खिलाफ लगातार चलाएं अभियान : उपायुक्त

Spread the love

नारनौल, 26 मार्च। सरकार की हिदायत अनुसार शहरों में अब कोई भी अवैध कालोनी विकसित नहींं होने दी जाएगी। इसके लिए नगर योजनाकार के अधिकारी ड्ïयूटी मैजिस्ट्रेट को लेकर लगातार अभियान चलाएं। इस मामले में कोई ढिलाई नहीं होनी चाहिए। ये निर्देश उपायुक्त अजय कुमार ने शुक्रवार को इस काम के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स की समीक्षा बैठक मेंं दिए।


डीसी ने कहा कि जिला मेंं लगातार अवैध निर्माण के खिलाफ अभियान चलाएं। जहां भी जरूरत पड़े वहां ड्ïयूटी मैजिस्ट्रेट की मांग की जाए। उन्हें पूरी पुलिस सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। अगर कोई प्रोपर्टी डीलर अवैध तरीके से प्लाट काटने में संलिप्त मिले तो उसके खिलाफ तुरंत एफआईआर दर्ज कराई जाए। इस पर डीटीपी ने बताया कि जिला में इस तरह के 33 मामलों में एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी है।


उपायुक्त ने कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ सबूत जुटाकर इन्हें सजा दिलवाने का काम करें। उन्होंने कहा कि अवैध कालोनियों के कारण न केवल शहरोंं की सूरत बिगड़ रही है बल्कि रहने वाले लोगोंं के स्वास्थ्य के लिए भी ये कालोनियां ठीक नहींं हैं। ऐसे में अधिकारी अभियान में किसी तरह की ढिलाई न करें।


इस बैठक में एसडीएम मनोज कुमार, एसडीएम महेंद्रगढ़ दिनेश कुमार, नगराधीश अमित कुमार व जिला नगर योजनाकार प्रवीण चौहान के अलावा अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।


अब सिस्टम पूरी तरह ऑनलाइन, नहींं हो सकती अवैध कालोनी में रजिस्ट्री
उपायुक्त अजय कुमार ने लोगों से आह्ïवान किया है कि वे अपने जीवन की खून-पसीने की कमाई को अवैध कालोनी मेंं प्लाट खरीदकर बर्बाद ना करें। अब सिस्टम पूरी तरह से ऑनलाइन हो चुका है। अब किसी भी सूरत मेंं ऐसी कालोनियों की रजिस्ट्री नहीं हो सकती। ऐसे में नागरिक पैसे लगाने के बाद भी जमीन के मालिक नहींं होते। अगर वे वहां पर मकान बनाते हैं तो भी वे उस मकान के मालिक नहीं बन सकते क्योंकि वह जमीन किसी और के नाम होती है और वह कृषि भूमि के दायरे में होती है। लोगों को ऐसी जगह पर पैसे लगाने से बचना चाहिए।